आईटीआई सर्वेयर कोर्स की जानकारी, पात्रता, फीस, एडमिशन, जॉब्स
ITI surveyor course details in Hindi

आईटीआई सर्वेयर कोर्स की जानकारी, पात्रता, फीस, एडमिशन, जॉब्स

Spread the love

आईटीआई सर्वेयर कोर्स कंस्ट्रक्शन सेक्टर से जुड़ा जॉब ओरिएंटेड, टेक्निकल सर्टिफिकेशन कोर्स है, जिसके बाद स्टूडेंट्स को गवर्नमेंट जॉब के साथ-साथ प्राइवेट जॉब की भी संभावना होती है।

सर्वेयर का काम होता है किसी भी जमीन के बाउंड्री का निर्धारण करना।

जब भी कोई बिल्डिंग, सड़क या अन्य कंस्ट्रक्शन का काम होता है, तो वहां सर्वेयर की जरूरत होती है, ताकि वह सर्वे कर बिल्डिंग या अन्य स्ट्रक्चर को सही जगह पर ही बनना सुनिश्चित कर सकें।

यह एक व्यापक पेशा है जिसमें भूमि की सीमाओं के निर्धारण से लेकर नक्शे बनाने, डिजाइन करने और वाणिज्यिक उत्पादों या संरचनाओं जैसे भवनों या नावों की योजना बनाने तक कुछ भी शामिल हो सकता है।

टेक्नोलॉजिकल एडवांसमेंट के साथ आज सुरवेयिंग के काम में बहुत सारे टेक्नोलॉजी का प्रयोग होता है।

आज की टेक्निकल और एडवांस दुनिया के लिए सुरवेयिंग बहुत ही महत्वपूर्ण है, क्योंकि सर्वेयर के द्वारा दी गई सही जानकारी सबसे पहले यह सुनिश्चित करती है, कि कोई स्ट्रक्चर तय समय तक सही सलामत खड़ा रहेगा।

सर्वेयर कई तरह के होते हैं लेकिन उनमें सबसे ज्यादा फेमस लैंड सर्वेयर है।

आईटीआई सर्वेयर कोर्स क्या है?

Contents hide

आईटीआई सर्वेयर एक तकनीकी 2-वर्षीय पाठ्यक्रम है, जो विभिन्न प्रकार के सर्वेक्षणों के बारे में है।

एक सर्वेयर या भूमि सर्वेक्षक एक पेशेवर होता है जो भूमि की स्थिति निर्धारित करता है।

एक सर्वेयर पृथ्वी की सतह पर या निर्माण की ऊंचाई तक की स्थिति का निर्धारण करता है

किसी भी जमीन का सर्वेक्षण करना और उन्नत सॉफ्टवेयर जैसे CAD आदि का प्रयोग कर डिटेल्स 3D मैप तैयार करना सर्वेयर का मुख्य काम होता है।

आजकल सर्वेयर जीपीएस यानी ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम का प्रयोग कर सर्वे का काम बहुत ही सटीकता के साथ करते हैं।

छात्र इस कोर्स के दौरान क्या सीखते हैं?

छात्र सर्वेयर कोर्स के दौरान सर्वे करने के लिए जरूरी अलग-अलग टेक्निक, और ड्राइंग बनाने की तकनीक को सीखते हैं।

कुछ मुख्य टॉपिक्स जो छात्र इस कोर्स के दौरान सीखते हैं निम्न है-

  • स्थलाकृतिक मानचित्र तैयार करना
  • सर्वे ड्राइंग CAD का प्रयोग कर
  • जीआईएस तकनीकों का अनुप्रयोग
  • हाइड्रोग्रिफिक सर्वेक्षण
  • ट्रांसमिशन लाइन सर्वेक्षण
  • रेलवे लाइन का सर्वे

Draughtsman civil ट्रेड की मुख्य बातें

इस ब्रांच के कुछ मुख्य बातें निम्न है-

पाठ्यक्रम स्तर 10th
कोर्स की अवधि 2 वर्ष (4 semester) NCVT
पात्रता किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10th
प्रवेश प्रक्रिया डायरेक्ट एडमिशन, प्रवेश परीक्षा
ट्यूशन शुल्क 5000 से 50000 प्रति वर्ष
परीक्षा का प्रकार सेमेस्टर वाइज
नौकरी प्रोफ़ाइल जूनियर surveyor, डsurveyor
औसत वेतन की शुरुआत 1 लाख प्रति वर्ष से 2 लाख प्रति वर्ष
प्लेसमेंट के अवसर सरकारी और निजी क्षेत्र में
ITI surveyor course highlights and key points in Hindi
ITI surveyor course highlights and key points in Hindi

सर्वेयर क्या करते हैं?

एक सर्वेयर का काम किसी भी प्रॉपर्टी के बाउंड्री का निर्धारण करना होता है कोई भी निर्माण कार्य कहां से कहां तक होगा इसका निर्धारण सर्वेयर के द्वारा ही किया जाता है।

सर्वेयर खनन, इंजीनियरिंग, भूमि मूल्यांकन, मानचित्र निर्माण, और निर्माण से संबंधित अन्य सभी उद्देश्यों के लिए पृथ्वी की सतह पर या उसके आस-पास भूमि के आकार, स्थान, गुरुत्वाकर्षण, समोच्च या आयाम से संबंधित डेटा प्रदान करते हैं।

सर्वेयर के कुछ मुख्य काम निम्न है-

  • धरती और धरती के सतह के आसपास, किसी भी दो पॉइंट के बीच की डिस्टेंस और एंगल को मेजर करना
  • किसी भी जमीन के लैंड रिकॉर्ड, सर्वे रिकॉर्ड और भूमि के मालिकाना हक का रिसर्च करना
  • किसी भी महत्वपूर्ण स्थान पर जाकर अलग-अलग तरह के संदर्भ बिंदु का प्रयोग कर उस महत्वपूर्ण स्थान का सटीक निर्धारण करना
  • किसी भी भूमि का नक्शा और रिपोर्ट तैयार करना
  • किसी भी जमीन के बाउंड्री का निर्धारण करना
  • पानी में बाउंड्री का निर्धारण करना

किन को यह कोर्स करनी चाहिए?

जिन स्टूडेंट्स का इंटरेस्ट कंस्ट्रक्शन के फील्ड में है, या जिन्हें ऐसा कोर्स करना है, जिसमें अच्छी नौकरी के साथ साथ अच्छे सैलरी की भी उम्मीद हो , तो उन को यह कोर्स करना चाहिए।

यह कोर्स कम समय में और कम संसाधन के साथ एक अच्छे कैरियर की गारंटी देता है।

आईटीआई सर्वेयर कोर्स के लिए पात्रता(Eligibility)

अगर कोई स्टूडेंट आईटीआई सर्वेयर कोर्स करना चाहता है, तो एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया बहुत ही आसान है, 10वीं पास कर चुका कोई भी स्टूडेंट इस कोर्स को ज्वाइन कर सकता है।
10वीं में साइंस और मैथ्स पेपर का होना जरूरी है।

छात्र की उम्र कम से कम 14 साल और 40 साल से कम होनी चाहिए।।

आईटीआई सर्वेयर कोर्स में एडमिशन की प्रक्रिया

आईटीआई सर्वेयर कोर्स में एडमिशन के लिए प्रक्रिया भी बहुत ही आसान है, अधिकतर कॉलेज में आपको आपके 10th मार्क्स के बेसिस पर डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है, वहीं कुछ राज्य के कुछ सरकारी और अन्य कॉलेज में आपको एंट्रेंस एग्जाम के थ्रू एडमिशन मिलता है।

विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा ITI Surveyor आईटीआई प्रवेश परीक्षा की सूची-

  • आंध्र प्रदेश आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • असम ITI प्रवेश परीक्षा
  • बिहार आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • छत्तीसगढ़ आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • दिल्ली आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • ]गुजरात आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • हरियाणा आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • हिमाचल आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • झारखंड आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • कर्नाटक आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • केरल आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • एमपी आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • महाराष्ट्र आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • मणिपुर ITI प्रवेश परीक्षा
  • ओडिशा आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • पंजाब आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • राजस्थान आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • यूपी आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • उत्तराखंड आईटीआई प्रवेश परीक्षा
  • पश्चिम बंगाल आईटीआई प्रवेश

Note- चुकी आईटीआई सर्वेयर कोर्स के लिए कॉलेज बहुत ही कम संख्या में हैं, तो जो स्टूडेंट इस कोर्स में एडमिशन के लिए इंटरेस्टेड है, उन्हें ऐडमिशन नोटिफिकेशन का खास ध्यान रखना चाहिए

आईटीआई सर्वेयर कोर्स की अवधि

आईटीआई सर्वेयर कोर्स के अवधी के बारे में बहुत सारा कंफ्यूजन है।

बहुत सारे लोग ऐसा बताते हैं कि यह कोर्स 1 साल का होता है जबकि बहुत सारे लोग इसे 2 साल का बताते हैं तो आइए यहां आपका यह कंफ्यूजन दूर करते हैं।

अगर आप आईटीआई सर्वेयर कोर्स किसी ऐसे संस्थान से करते हैं, जिसे एनसीवीटी से मान्यता प्राप्त है, तो आपके लिए इस कोर्स की अवधि 2 साल का होगा।

वही अगर आप एससीवीटी से मान्यता प्राप्त संस्थान से सर्वेयर कोर्स करते हैं ,तो कोर्स की अवधि 1 साल की होगी।

अगर आप एनसीवीटी से मान्यता प्राप्त संस्थान से कोर्स करते हैं तो इस 2 साल के दौरान 4 सेमेस्टर होंगे।

आईटीआई सर्वेयर कोर्स के बाद अपरेंटिस प्रशिक्षण की अवधि-

जो छात्र ITI सर्वेयर कोर्स के दौरान अच्छा करते हैं और अगर उन्हें अपरेंटिस का मौका मिलता है, तो इसकी अवधि 3 वर्ष है।

जिसमें 2 साल का बुनियादी प्रशिक्षण शामिल है।

ट्यूशन फीस

आईटीआई सर्वेयर कोर्स के लिए ट्यूशन फीस की बात करें तो सरकारी कॉलेज में 2000 से ₹5000 तक सालाना देना पड़ सकता है, वहीं प्राइवेट कॉलेज में ₹10000 से ₹40000 तक सालाना फीस पे करना पड़ सकता है।

छात्रों को कई तरह की आर्थिक मदद सरकार की तरफ से इस कोर्स को करने के लिए दी जाती है।

आईटीआई सर्वेयर कोर्स के बाद कैरियर विकल्प

इंडिया और दुनिया के कई देश डेवलपिंग कंट्री है, जहां कंस्ट्रक्शन का बहुत सारा काम चल रहा है, और जहां भी कंस्ट्रक्शन का काम होगा, वहां सर्वेयर की जरूरत होती है।

तो सर्वेयर कोर्स करने के बाद एक स्टूडेंट के पास कैरियर के कई विकल्प होते हैं, जैसे कि वह नौकरी के लिए जा सकता है, हायर एजुकेशन के लिए जा सकता है,या अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकता है।

कोर्स के बाद नौकरी की संभावनाएं

इस कोर्स के बाद नौकरी की बहुत सारी संभावनाएं हैं, और चुकी इस कोर्स के लिए कॉलेज और सीट बहुत ही कम है, इसलिए इस कोर्स को करने वाले स्टूडेंट की संख्या भी बहुत ही कम है और डिमांड ज्यादा।

स्टूडेंट अपने नॉलेज और जरूरत के हिसाब से उपलब्ध नौकरी में से किसी के लिए भी जा सकते हैं।

इस कोर्स के बाद मिलने वाले कुछ महत्वपूर्ण रोल-
  • लैंड सर्वेयर
  • फील्ड सर्वेयर
  • लैंड सर्वेयर फील्ड कोऑर्डिनेटर
  • सर्वे टेक्निशियन
  • सर्वेयर हेल्पर

आईटीआई सर्वेयर गवर्नमेंट जॉब

आईटीआई सर्वेयर कोर्स के बाद बहुत सारे स्टूडेंट सरकारी नौकरी पाने में सफल होते हैं, कुछ महत्वपूर्ण सरकारी डिपार्टमेंट जहां इस कोर्स के बाद स्टूडेंट्स को नौकरी लगी है, निम्न है-

  • पीडब्ल्यूडी
  • नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया
  • इंडियन रेलवे
  • इंडियन डिफेंस
  • आईओसीएल
  • गेल
  • स्टेट लैंड डिपार्टमेंट
  • बिजली विभाग

सैलरी

इस कोर्स के बाद स्टूडेंट्स को शुरुआती सैलरी 10000 से ₹15000 तक मिल सकती है, वहीं अगर स्टूडेंट को सरकारी नौकरी लग जाती है, तो उसे ₹20000 से ज्यादा हर महीने मिल सकती है।
बहुत सारे स्टूडेंट इस कोर्स के बाद सरकार और प्राइवेट कंपनियों द्वारा लाए जाने वाले अप्रेंटिसशिप प्रोग्राम में शामिल हो जाते हैं, जहां उन्हें पांच से ₹6000 का महीना आसानी से मिल जाता है।
यहां स्टूडेंट्स को अप्रेंटिसशिप प्रोग्राम में शामिल होने के लिए सलाह दी जाती है, क्योंकि यह एक्सपीरियंस उन्हें अच्छी नौकरी हासिल करने में काफी मदद करती है।

एक्सपीरियंस के साथ स्टूडेंट एक अच्छी सैलरी की उम्मीद कर सकते हैं।

surveyor काम पर
surveyor काम पर

 

आईटीआई सर्वेयर कोर्स के बाद हायर एजुकेशन के विकल्प-

इस कोर्स के बाद स्टूडेंट के पास हायर एजुकेशन के भी कई विकल्प होते हैं-

  • स्टूडेंट लेटरल एंट्री के थ्रू, डायरेक्ट सेकंड ईयर में, संबंधित ब्रांच में, डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन ले सकता है।
  • स्टूडेंट अप्रेंटिसशिप प्रोग्राम जो सरकार और अलग-अलग कंपनियों द्वारा लाया जाता है को भी ज्वाइन कर सकता है।
  • अगर कोई छात्र चाहे तो वह क्राफ्ट इंस्ट्रक्टर ट्रेनिंग स्कीम में शामिल हो सकता है, जिसके बाद उसे आईटीआई में ही इंस्ट्रक्टर की नौकरी मिल सकती है।
  • और अगर छात्र ने इसी कोर्स के दौरान ही एनआईओएस से ट्वेल्थ भी कर लिया है तो वह आगे किसी भी तरह के हायर एजुकेशन के लिए एलिजिबल हो जाएगा।

इस कोर्स के बाद सेल्फ एंप्लॉयमेंट

इस कोर्स के बाद सेल्फ एंप्लॉयमेंट के भी बहुत सारे ऑप्शन से स्टूडेंट के पास अवेलेबल होते हैं।

जहां बहुत सारे लोग अपना खुद का सर्वे एजेंसी शुरू करते हैं, वहीं कुछ स्टूडेंट अमीन का काम भी शुरू करते हैं, और जो स्टूडेंट इस कोर्स के बाद आमीन का काम शुरू करते हैं, वह एक बहुत ही हाई लेवल के अमीन माने जाते हैं।

सर्वेयर कोर्स के लिए कुछ शीर्ष आईटीआई कॉलेज

  • गवर्नमेंट इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट, मुंगेर
  • गवर्नमेंट इंडस्ट्रियल ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट, भागलपुर
  • इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, रोहतक
  • नेशनल इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, झज्जर
  • गवर्नमेंट इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट, धोलपुर
  • गवर्नमेंट इंडस्ट्रियल ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट, कोरापुट
  • इंडस्ट्रियल टेक्निकल इंस्टीट्यूट, बरहमपुर
  • इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, न्यू दिल्ली
  • वास्तुकला इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट, कोडरमा
  • झारखंड इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट, जमशेदपुर
  • गात निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान मुर्शिदाबाद
  • बैकुंठी देवी मोहनलाल प्राइवेट इंडस्ट्रियल ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट, आगरा
  • लालती एजुकेशनल इंस्टीट्यूट टेक्नोलॉजी, आजमगढ़
  • श्री कृष्णा ब्रिज विकास प्राइवेट इंडस्ट्रियल ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट, मथुरा

आईटीआई सर्वेक्षक पाठ्यक्रम

आईटीआई सर्वेक्षक पाठ्यक्रम में निम्नलिखित तत्व शामिल हैं-

SL no. course elements
1 professional Skills- trade practicals
2 Professional knowledge- trade theory
3 workshop calculation and science
4 Employability skills

 

आईटीआई सर्वेयर कोर्स से जुडी कुछ महत्वपूर्ण पुस्तकें

  1. सर्वेयर ट्रेड थ्योरी फर्स्ट ईयर और सेकंड ईयर- G S Sethi
  2. आईटीआई ट्रेड थ्योरी – अभिषेक आर्य

अगर आप यह आर्टिकल इंग्लिश में पढ़ना चाहें तो यहां क्लिक करें

इसी तरह के आईटीआई कोर्स

आईटीआई ड्राफ्टमैन

आईटीआई इलेक्ट्रिशियन

आईटीआई फिटर

Ajay Kumar

अजय कुमार एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हैं, जो एक दशक से अधिक समय से शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। उनकी शिक्षा और टेक्नोलॉजी से संबंधित वेबसाइट और YouTube चैनल को लोगों ने काफी पसंद किया है। वह आसान भाषा में टेक्निकल टर्म को समझाने के लिए प्रसिद्ध हैं। यह लेख आपको कैसा लगा? अगर आपका कोई सुझाव या सवाल है, तो कृपया कमेंट करें । सोशल मीडिया पर लेखक को फॉलो करें।

Leave a Reply

Close Menu