डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी
Diploma in information technology in Hindi

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी

Spread the love

आईटी या इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी जिसे हिंदी में सूचना प्रौद्योगिकी भी कहते हैं, में डिप्लोमा करना 10 वीं के बाद कंप्यूटर से संबंधित सबसे अच्छे पाठ्यक्रमों में से एक है, जो छात्रों को अत्यधिक बढ़ते कंप्यूटर और इंटरनेट क्षेत्र में अपना करियर शुरू करने का अवसर देता है।

अक्सर हम इस कोर्स को डिप्लोमा इन आईटी भी कहते हैं यहां आईटी का फुल फॉर्म इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी होता है

आईटी का फुल फॉर्म हिंदी में सूचना प्रौद्योगिकी होता है

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी ट्वेल्थ लेवल का कोर्स है, जिसमें कंप्यूटर और इंटरनेट के बारे में बेसिक लेवल से पढ़ाया जाता है

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (Information Technology) क्या होता है?

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का मतलब किसी कंपनी या काम करने की जगह पर कम्युनिकेशन नेटवर्क तैयार करना है

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के अंतर्गत कंप्यूटर और टेलीकम्युनिकेशन जैसे सिस्टम का स्टडी डिजाइन डेवलपमेंट और मैनेजमेंट किया जाता है

आईटी शब्द का प्रयोग व्यापक रूप से कंप्यूटर और व्यापार के क्षेत्र में किया जाता है

आईटी शब्द का प्रयोग व्यापक रूप से कंप्यूटर और व्यापार के क्षेत्र में किया जाता है

कंप्यूटर के द्वारा किए जाने वाले कार्य और इससे जुड़ी जरूरी चीजें जैसे इंटरनेट, नेटवर्किंग, डाटा मैनेजमेंट, सॉफ्टवेयर, इंटरनेट, वेबसाइट, एप्लीकेशन, सरवर, डेटाबेस इत्यादि सभी आईटी का ही हिस्सा है

दूसरे शब्दों में कहें तो इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी वह पूरा हिस्सा होता है जिसके अंतर्गत किसी कंपनी या व्यवसाय के अंदर कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी से संबंधित कार्य किए जाते हैं

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स क्या है?

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स 3 साल का दसवीं के बाद किया जाने वाला कोर्स है, इस कोर्स के दौरान छात्रों को कंप्यूटर और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी से जुड़े सब्जेक्ट पढ़ने होते हैं, जिसके बाद वह तेजी से बढ़ रहे, कंप्यूटर और आईटी सेक्टर में काम करने के लिए तैयार होते हैं

यह कोर्स कंप्यूटर और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी से रिलेटेड टॉपिक को बेसिक से कवर करता है, तो अगर किसी स्टूडेंट ने दसवीं तक कंप्यूटर से रिलेटेड कोई पढ़ाई नहीं की है फिर भी वह स्टूडेंट इस कोर्स के लिए ज्वाइन कर सकता है, और उसे इस कोर्स को समझने में किसी तरह की कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा

यह कोर्स किसी छात्र का इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी सेक्टर में पहला कदम हो सकता है

कुछ विशेष बातों को छोड़कर डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस और डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स काफी हद तक समान है

किनको यह कोर्स करनी चाहिए?

जिन छात्रों का इंटरेस्ट कंप्यूटर क्षेत्र में है और खासकर जिन्हे टेक्नॉलॉजी से जुड़े प्रॉब्लम्स को सॉल्व करने में मजा आता है, जिनको टेक्निकल क्वेश्चन रोमांचित करता है उन छात्रों को यह कोर्स करनी चाहिए

साथ ही जो छात्र सबसे तेजी से आगे बढ़ रहे आईटी सेक्टर में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं, वह भी कम खर्च में इस डिप्लोमा कोर्स को ज्वाइन कर सकते हैं और सुनहरे भविष्य की कल्पना कर सकते हैं

छात्र इस कोर्स के दौरान क्या सीखते हैं?

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के दौरान छात्रों को कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर पार्ट के बारे में ज्यादा जानकारी दी जाती है, साथ में बेसिक हार्डवेयर की भी जानकारी दी जाती है

चुकी यह कोर्स इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी यानी डाटा से रिलेटेड है लेकिन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी के लिए कंप्यूटर जरूरी है इसीलिए छात्रों को इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी के सब्जेक्ट्स के साथ-साथ कंप्यूटर की भी पढ़ाई कराई जाती है

कुछ महत्वपूर्ण आईटी सब्जेक्ट्स की बात करें तो सी, सी प्लस प्लस, जावा, प्रिंसिपल्स ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, वेब टेक्नोलॉजी, डाटा स्ट्रक्चर, आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर, ऑपरेटिंग सिस्टम, इनफॉरमेशन सिक्योरिटी आदि के बारे में पढ़ाया जाता है

साथ में छात्रों को इस बारे में जागरूक बनाया जाता है कि लाइफ के अलग-अलग महत्वपूर्ण क्षेत्र जैसे कि शिक्षा,स्वास्थ्य, ट्रांसपोर्ट आदि में आईटी का प्रयोग कैसे किया जा सकता है

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स की मुख्य बातें

इस ब्रांच के कुछ मुख्य बातें निम्न है-

पाठ्यक्रम स्तर 12th
कोर्स की अवधि 3 वर्ष (6 semester)
पात्रता किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10th
प्रवेश प्रक्रिया डायरेक्ट एडमिशन, प्रवेश परीक्षा
ट्यूशन शुल्क 5000 से 50000 प्रति वर्ष
परीक्षा का प्रकार सेमेस्टर वाइज
नौकरी प्रोफ़ाइल web developer, web designer
औसत वेतन की शुरुआत 1 लाख प्रति वर्ष से 2 लाख प्रति वर्ष
प्लेसमेंट के अवसर सरकारी और निजी क्षेत्र में
Diploma IT course highlights in Hindi
Diploma IT course highlights in Hindi

एलिजिबिलिटी (Eligibility)

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के एलिजिबिलिटी की बात करें तो कोई भी छात्र जिसने दसवीं पास कर ली है ,इस कोर्स के लिए ज्वाइन कर सकते हैं

अधिकतर कॉलेज दसवीं के पास मार्क्स वाले छात्रों को एडमिशन दे देते हैं, लेकिन कुछ ऐसे भी टॉप के कॉलेज हैं जहां एडमिशन के लिए दसवीं में के कम से कम 60% स्कोर करना जरूरी होता है

अगर कोई छात्र 12वीं के बाद यह कोर्स ज्वाइन करना चाहे तो वह डायरेक्टली लेटरल एंट्री के थ्रू सेकंड ईयर में एडमिशन पा सकता है लेकिन छात्र का ट्वेल्थ में फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स सब्जेक्ट होना जरूरी है

साथ ही जो छात्र 2 साल का आईटीआई कोर्स कर चुके हैं वह भी इस डिप्लोमा इन आईटी कोर्स के लिए ज्वाइन कर सकते हैं

कोर्स ड्यूरेशन

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स 3 साल का होता है जिसके दौरान छे छे महीने के 6 सेमेस्टर होते हैं

अगर कोई छात्र 12वीं के बाद यह कोर्स सेकंड ईयर में ज्वाइन करेगा तो उसके लिए यह कोर्स 2 साल का ही होगा जिसमें 4 सेमेस्टर ही होंगे

एडमिशन प्रोसीजर

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स में एडमिशन दो तरीके से मिल सकता है-

  • डायरेक्ट एडमिशन
  • एंट्रेंस एग्जाम के थ्रू एडमिशन

भारत में कई ऐसे अच्छे सरकारी और प्राइवेट डिप्लोमा कॉलेज हैं जहां आपको आपके 10th मार्क्स बेसिस पर डायरेक्ट एडमिशन मिल सकता है, पॉलिटेक्निक आईटी कोर्स के लिए

वही बहुत सारे अच्छे सरकारी और प्राइवेट डिप्लोमा कॉलेज हैं जिनमें आपको एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई करना जरूरी होता है

आईटी सेक्टर पूरी दुनिया में सबसे तेजी से ग्रो कर रहे सेक्टर में से एक है, इसलिए बहुत सारे छात्र आज डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स करना चाहते हैं, लेकिन इस कोर्स के लिए सीट दूसरे डिप्लोमा के ब्रांच से कम है, तो जो छात्र एंट्रेंस एग्जाम में अच्छा स्कोर कर पाते हैं उन्हें ही किसी अच्छे कॉलेज में एडमिशन मिल पाता है

इसलिए छात्रों को अगर डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स करनी है तो दसवीं में भी अच्छा स्कोर करना चाहिए, साथ में अगर वह एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम देने जा रहे हैं, तो वहां भी उन्हें अच्छा स्कोर करने की कोशिश करनी चाहिए

ट्यूशन फीस

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के लिए ट्यूशन फीस सरकारी कॉलेज में कम होता है वहीं प्राइवेट कॉलेज में आपको ज्यादा फीस पे करना होता है

जहां सरकारी कॉलेज में छात्रों को 10000 से ₹20000 सालाना तक ट्यूशन फी पे करना पड़ सकता है वहीं प्राइवेट कॉलेज में छात्रों को 30 से ₹40000 सालाना तक भी ट्यूशन फीस पे करना पड़ सकता है

इस कोर्स के लिए बहुत सारे पॉलिटेक्निक कॉलेज मेट्रो शहर में हैं जहां ट्यूशन फीस ज्यादा होता है और सालाना ₹50000 या उससे ऊपर भी छात्रों को पे करना पड़ता है

टॉप कॉलेजेस

बढ़ती डिमांड के साथ आज डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी के लिए बहुत सारे नए कॉलेज सामने आए हैं, या पुराने कॉलेज में भी अब इस ब्रांच की पढ़ाई शुरू कर दी गई है

अगर देखा जाए तो आज लगभग हर स्टेट में कई ऐसे डिप्लोमा कॉलेज हैं, जिनमें डिप्लोमा इन आईटी कोर्स की पढ़ाई कराई जाती है
तो कोई छात्र अगर चाहें तो अपने स्टेट में ही, अपने लोकेलिटी में कॉलेज के बारे में पता कर एडमिशन ले सकते हैं, और अपना कोर्स पूरा कर सकते हैं

साथ ही बहुत सारे छात्र इस कोर्स के लिए बड़े मेट्रो शहर जैसे chennai, bengaluru, देल्ही, कोलकाता, हैदराबाद आदि के कॉलेज को प्रेफर करते हैं, इसके पीछे उनका सोच यह होता है कि इन शहरों में ही ज्यादा आईटी जॉब मिलता है, तो उनको एक शुरुआती एक्सपोजर मिल सकता है , और उन्हें आसानी से जॉब मिल सकता है, जो काफी हद तक सही भी है

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के लिए कुछ टॉप कॉलेज निम्न है-

  • गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, नासिक
  • एसआरएम पॉलिटेक्निक, चेन्नई
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़
  • गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, पुणे
  • एलजे पॉलिटेक्निक, अहमदाबाद
  • पीएसजी पॉलिटेक्निक कॉलेज, कोयंबटूर
  • गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, मुंबई
  • हिंदुस्तान पॉलिटेक्निक, चेन्नई
  • थापर पॉलिटेक्निक कॉलेज, पटियाला
  • गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, पटना
  • सरदार वल्लभभाई पॉलिटेक्निक कॉलेज, भोपाल
  • एमएस रमैया पॉलिटेक्निक, बेंगलुरु
  • कलिंगा पॉलिटेक्निक, भुवनेश्वर
  • भगवान महावीर पॉलिटेक्निक, सूरत
  • पारूल यूनिवर्सिटी, वडोदरा
  • ठाकुर पॉलिटेक्निक, मुंबई
  • शिलांग पॉलिटेक्निक, शिलांग
  • गवर्नमेंट गर्ल्स पॉलिटेक्निक, लखनऊ
  • एंबीशन इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी, वाराणसी
  • भुजबल नॉलेज सिटी, नासिक
  • कलानिकेतन पॉलिटेक्निक कॉलेज, जबलपुर

करियर ऑप्शंस

डिप्लोमा इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के बाद करियर ऑप्शंस की बात करें तो छात्रों के पास नौकरी के कई मौके होते हैं, साथ में छात्र हायर एजुकेशन के लिए भी जाना चाहे, तो उसके लिए भी एडमिशन की प्रक्रिया बहुत ही आसान होती है

यह कोर्स करने के बाद छात्रों को कंप्यूटर और आईटी सेक्टर की छोटी और बड़ी कंपनियों में अलग-अलग प्रोफाइल में नौकरी मिल सकता है साथ में कुछ सरकारी नौकरी के भी मौके होते हैं

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के बाद जॉब प्रोफाइल की बात करें तो छात्रों को प्रोग्रामर, वेब डेवलपर, जूनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर, ग्राफिक डिजाइनर, सॉफ्टवेयर टेस्टर, डाटा एनालिस्ट, आईटी ऑफीसर, आईटी सिक्योरिटी ऑफिसर आदि के रोल में काम मिल सकता है

वहीं कई छात्र गवर्नमेंट सेक्टर की कोई नौकरी पाने में सफल होते हैं, जहा उनको स्टेनोग्राफर, आईटी प्रोफेशनल, कंप्यूटर ऑपरेटर, बैंक कॉरस्पॉडेंट, कंप्यूटर डायरेक्टर आदि का रोल मिल सकता है

इस कोर्स को करने के बाद कई बार छात्रों को अच्छे कंपनी में नौकरी या अच्छे प्रोफाइल के लिए परेशान होते हुए देखा गया है
इसका कारण होता है कि यह कोर्स बेसिक लेबल का कोर्स है, जिसमें छात्रों को एक बेसिक नॉलेज ही इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी सेक्टर का मिल पाता है,

तो यहां छात्रों को सलाह दी जाती है कि वह डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स के बाद चाहे तो सीधे इंजीनियरिंग कर सकते हैं,

या कुछ सालों का वर्किंग एक्सपीरियंस लेकर भी इंजीनियरिंग या कंप्यूटर या आईटी से जुड़े कोई अन्य कोर्स से हायर एजुकेशन कर सकते हैं, ताकि उन्हें अच्छी कंपनी में अच्छे रोल के साथ अच्छा पैकेज मिल सके

सैलरी

कोई भी छात्र जब किसी कोर्स में एडमिशन की सोचते हैं तो एक सवाल जो सभी छात्र जानना चाहते हैं, कि इस कोर्स के बाद उन्हें क्या सैलरी मिल सकती है

तो इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी से पॉलिटेक्निक कोर्स करने के बाद छात्रों को शुरुआती सैलरी 10 से ₹20000 हर महीने का प्राइवेट कंपनी में जॉब प्रोफाइल के अनुसार मिल जाता है, वहीं अगर कोई छात्र सरकारी नौकरी पाने में सफल होता है तो उसे शुरुआती सैलरी 25 से ₹30000 तक मिल सकती है

आपको एक बात यहाँ बताता चलूँ कि आपको सैलरी क्या मिलेगी यह डिपेंड करता है कि आपके पास नॉलेज कैसा है, आपने किस ढंग से कोर्स के 3 साल के दौरान पढ़ाई किया है उसी पर आपका सैलरी डिपेंड करेगा

साथ में सेल्फ एंप्लॉयमेंट के भी कई मौके होते हैं इस कोर्स के बाद, जहां से कई छात्र बहुत अच्छी कमाई कर पा रहे हैं

अगर आपके पास इस कोर्स का अच्छा नॉलेज होगा तो आप फ्रीलांसर का काम करके भी अच्छा कमा सकते हैं

हायर एजुकेशन

इस कोर्स के बाद छात्रों के पास हायर एजुकेशन के कई मौके होते हैं सबसे ज्यादा छात्र इस कोर्स के बाद इंजीनियरिंग करते हैं, और इंजीनियरिंग में उन्हें इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी और इससे मिलते-जुलते ब्रांच जैसे कि कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग आदि ब्रांच में आसानी से एडमिशन मिल जाता है

इंजीनियरिंग करने वाले छात्रों को यहां एक बहुत बड़ा फायदा यह हो जाता है कि उन्हें सीधे सेकंड ईयर में लेटरल एंट्री के थ्रू एडमिशन मिल जाता है, मतलब उनका कोर्स 3 साल में ही पूरा हो जाएगा, तो उन्हें इंजीनियरिंग का ट्यूशन फीस भी 3 साल के लिए ही पे करना होता है

सिलेबस

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स को इस तरह प्लान किया गया है, कि दसवीं पास कोई भी छात्र बिना किसी परेशानी के इस कोर्स को पूरा कर सकें
तो पहले सेमेस्टर में छात्रों को बेसिक फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स के अलावा कंप्यूटर और आईटी से जुड़े बेसिक सब्जेक्ट भी पढ़ाए जाते हैं, फिर सेकंड ईयर से आईटी और कंप्यूटर से जुड़े मुख्य पेपर पढ़ाए जाते हैं
कोर्स के दौरान ध्यान रखा जाता है कि छात्रों को प्रैक्टिकल और थियोरेटिकल दोनों तरह से अच्छा कांसेप्ट दिया जाए

आईटी डिप्लोमा का सिलेबस विस्तार से नीचे दिया गया है-

1st year, 1st semester

थ्योरी प्रैक्टिकल
Fundamental communication Introduction to computer
Applied Mathematics 1
Applied Physics 1
Electrical Engineering
Principles of information technology

1st year, 2nd semester

 थ्योरी प्रैक्टिकल
Fundamentals of electronic devices Introduction to computer hardware
Applied Mathematics 2 Students IT Activity
Applied Physics 2
Applied Chemistry
Concepts of Programing using C

2nd year, 3rd semester

थ्योरी प्रैक्टिकल
Data Structure Practical C
Applied Mathematics 3
Web Technology 1
Computer Organization and Microprocessor
Office Automation Tools

2nd year, 4th semester

थ्योरी प्रैक्टिकल
Functional communication practical activity
Data Communication and computer network
Web Technology 2
Operating System
Employability skills

3rd year, 5th semester

थ्योरी प्रैक्टिकल
Integrative communication Students activity centre
Industrial Management and Entrepreneurship development
Database management system
Object-oriented programming using Java
E-commerce

3rd year, 6th semester

थ्योरी प्रैक्टिकल
Environmental education and disaster management Final Project work
Information Security and IT laws
Multimedia and Animation

 

 

फाइनल वर्ड्स

डिप्लोमा इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स छात्रों को आईटी सेक्टर में अपना कैरियर बनाने का मौका देता है, और जो छात्र आईटी सेक्टर में अपना कैरियर बनाने में इंटरेस्टेड है उनके लिए यह एक बेहतरीन कोर्स साबित हो सकता है

अगर छात्र थ्योरी के साथ-साथ प्रैक्टिकल नॉलेज पर भी ध्यान देते हैं, कोडिंग का अच्छा प्रैक्टिस करते हैं, तो वह अपने कैरियर में अच्छा कर पाएंगे

इस डिप्लोमा कोर्स के बाद जब छात्र इंजीनियरिंग भी कर लेंगे तो वह कई तरह के बड़े प्रोफाइल के साथ बड़ी नौकरियों के लिए एलिजिबल होंगे

अगर लड़कियां यह कोर्स करना चाहे तो उनके लिए भी यह बेहतरीन कैरियर ऑप्शन साबित हो सकता है, क्योंकि इस कोर्स में ऑफिस से ही काम करना होता है और फील्ड वर्क नहीं होता है, तो आज बहुत सारी लड़कियां इस कोर्स को प्रेफर कर रही है

 

Ajay Kumar

अजय कुमार एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हैं, जो एक दशक से अधिक समय से शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। उनकी शिक्षा और टेक्नोलॉजी से संबंधित वेबसाइट और YouTube चैनल को लोगों ने काफी पसंद किया है। वह आसान भाषा में टेक्निकल टर्म को समझाने के लिए प्रसिद्ध हैं। यह लेख आपको कैसा लगा? अगर आपका कोई सुझाव या सवाल है, तो कृपया कमेंट करें । सोशल मीडिया पर लेखक को फॉलो करें।

Leave a Reply